Trending

Post Top Ad

Your Ad Spot

Thursday, November 14, 2019

Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics Hindi : आरती कुंजबिहारी की लिखित

aarti-kunj-bihari-ki-lyrics-hindi

Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics Hindi : आरती कुंजबिहारी की लिखित

आरती करने का उद्देश्य देवताओं की विनम्रता और कृतज्ञता की भावना से पहले प्रकाश में लहराता है, जिसमें विश्वासयोग्य अनुयायी भगवान के दिव्य रूप में डूब जाते हैं। यह पाँच तत्वों का प्रतीक है: 1. आकाश (आकाश) 2. वायु (वायु) 3. अग्नि (अग्नि) 4. जल (जल) 5. पृथ्वी (पृथ्वी)। पाँच विक्स (जिसे पंच-आरती भी कहा जाता है) के साथ एक दीपक का उपयोग करते हुए आरती करते हुए, इस जलाए हुए दीपक वाले पात्र को देवता के सामने एक पूर्ण चक्र में लहराया जाना चाहिए। इसके परिणामस्वरूप दीपक की लौ द्वारा उत्सर्जित सत्त्व आवृत्तियों का एक त्वरित परिपत्र आंदोलन होता है। ये सत्व आवृत्तियाँ फिर धीरे-धीरे राजस आवृत्तियों में परिवर्तित हो जाती हैं।



आरती कुंजबिहारी की,
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की।
 गले में बैजंती मालाबजावै मुरली मधुर बाला
श्रवण में कुण्डल झलकालानंद के आनंद नंदलाला
गगन सम अंग कांति कालीराधिका चमक रही आली
 लतन में ठाढ़े बनमाली
भ्रमर सी अलककस्तूरी तिलकचंद्र सी झलक
ललित छवि श्यामा प्यारी की।।     Aarti Kunj Bihari Ki Lyrics Hindi

 श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की
आरती कुंजबिहारी की।।
 श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की
कनकमय मोर मुकुट बिलसैदेवता दरसन को तरसैं।
 गगन सों सुमन रासि बरसै
बजे मुरचंगमधुर मिरदंगग्वालिन संग
 अतुल रति गोप कुमारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की
आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की॥
 जहां ते प्रकट भई गंगाकलुष कलि हारिणि श्रीगंगा
स्मरन ते होत मोह भंगा
बसी सिव सीसजटा के बीचहरै अघ कीच
 चरन छवि श्रीबनवारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की।।
 आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की।।
 चमकती उज्ज्वल तट रेनूबज रही वृंदावन बेनू।
चहुं दिसि गोपि ग्वाल धेनू
हंसत मृदु मंद,चांदनी चंदकटत भव फंद
 टेर सुन दीन भिखारी की।
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की।।
 आरती कुंजबिहारी की
श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की।।
 आरती कुंजबिहारी कीश्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की।
आरती कुंजबिहारी कीश्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की।।
arti Kunj Bihari Ki Lyrics Hindi : आरती कुंजबिहारी की लिखित

aarti-kunj-bihari-ki-lyrics-hindi
Tags - aarti kunj bihari ki , krishna aarti,krishna ji ki aarti,krishna bhagwan ki aarti,
aarti kunj bihari ki lyrics,
hariharan aarti kunj bihari ki,
aarti kunj bihari ki girdhar krishna murari ki,
shri krishna aarti,
aarti kunj bihari ki shri girdhar krishna murari ki,
krishan ji ki aarti,
aarti kunj bihari ki lyrics in hindi,
aarti kunj bihari ki girdhar krishna murari,
shri krishna ji ki aarti,
shri krishna ki aarti,
anuradha paudwal aarti kunj bihari ki,
aarti krishna murari ki,
krishna aarti lyrics,,
aarti kunj bihari ki shri girdhar krishna murari,
aarti kunj bihari ki in hindi,
aarti kunj bihari ki song,
aarti kunj bihari lyrics,
aarti kunj,
aarti kunj bihari ki girdhar Krishna,
krishna ji aarti,
aarti shri kunj bihari ki,


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages