Trending

Post Top Ad

Your Ad Spot

Monday, October 28, 2019

Ganesh Ji Ki Aarti | Ganpati Ki Aarti | गणेश जी की आरती


Ganesh Ji Ki Aarti | Ganpati Ki Aarti | गणेश जी की आरती | Shri Ganesh Ji Ki Aarti

हिन्दुओं के आदिदेव महादेव के पुत्र गणेशजी का स्थान विशिष्ट है। कोई भी धार्मिक उत्सव, यज्ञ, पूजन इत्यादि सत्कर्म हो या फिर विवाहोत्सव या अन्य मांगलिक कार्य हो, गणेशजी की पूजा के बगैर शुरू नहीं हो सकता। निर्विघ्न कार्य संपन्न हो इसलिए शुभ के रूप में गणेशजी की पूजा सबसे पहले की जाती है। भारत के ईश्‍वरवादी और अनीश्वरवादी दोनों ही धर्मों में गणेशजी की पूजा का प्रचलन और महत्व माना गया है। सबसे पहले गणपति के पूजा के बाद ही अन्य देवी देवताओ की पूजा की जाती है। कोई भी सुबह काम करने से पहले इस Ganpati ki aarti को जरूर उतरे।


जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।।
एकदंत, दयावन्त, चार भुजाधारी,
माथे सिन्दूर सोहे, मूस की सवारी।
पान चढ़े, फूल चढ़े और चढ़े मेवा,
लड्डुअन का भोग लगे, सन्त करें सेवा।। ..
जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश, देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा।।
अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया,
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया।
'सूर' श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा।।
जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा ..
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा। 
दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो जय बलिहारी।
Shri Ganesh Ji Ki Aarti English

Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva
Mata Jaaki Parvati Pita Mahadeva
Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva
Mata Jaaki Parvati Pita Mahadeva
Ek Dant Dayavant, Chaar Bhuja Dhaari
Maathe Pe Sindhoor Sohe, Muse Ki Savari
Paan Chadhe, Phul Chadhe, Aur Chadhe Meva
Ladduan Ka Bhog Lage, Sant Kare Seva
Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva
Mata Jaaki Parvati Pita Mahadeva
Andhan Ko Aankh Det, Kodhin Ko Kaaya
Baanjhan Ko Putra Det, Nirdhan Ko Maaya
Surya Shaam Sharan Aye, Safalki Je Seva
Mata Jaaki Parvati Pita Mahadeva
Jai Ganesh, Jai Ganesh, Jai Ganesh Deva
Mata Jaaki Parvati, Pita Mahadeva

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages